Author: admin

supreme court

जम्मू-कश्मीर के पुनर्वास कानून की संवैधानिक वैधता : राज्य ने SC को बताया कि कोई आवेदन नहीं मिला, सुनवाई टालने की गुहार

January 9, 2019

वरिष्ठ नेशनल कांफ्रेंस के नेता अब्दुल रहीम रादर द्वारा 8 मार्च, 1980 को पेश किए गए जम्मू-कश्मीर पुनर्वास विधेयक को तत्कालीन एनसी सरकार द्वारा केंद्र की कांग्रेस सरकार को भेजा गया था। हालांकि जम्मू-कश्मीर विधायिका के दोनों सदनों ने अप्रैल 1982 में विधेयक पारित किया और फिर राज्यपाल बी के नेहरू ने इसे पुनर्विचार के […]

Read More
judgement

IT एक्ट की 66 A का अभी भी इस्तेमाल : SC ने अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया, केंद्र को नोटिस जारी

January 9, 2019

सुप्रीम कोर्ट ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66-A के निरंतर उपयोग को लेकर पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज (PUCL) द्वारा दायर एक अर्जी पर केंद्र को नोटिस जारी किया है। अपनी याचिका में पीयूसीएल ने कहा है कि वर्ष 2015 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस प्रावधान को रद्द करने के बावजूद इस प्रावधान के […]

Read More
vijay mallya

विजय माल्या आर्थिक अपराध भगोड़ा घोषित, मुंबई की PMLA स्पेशल कोर्ट ने सुनाया फैसला

January 9, 2019

देश छोड़कर भाग चुके किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक, विजय माल्या को आर्थिक अपराध भगोड़ा घोषित कर दिया गया है। विजय माल्या को मुंबई की स्पेशल कोर्ट (PMLA) ने शनिवार को भगोड़ा घोषित किया। इसके साथ ही भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून-2018 के तहत माल्या पहला अपराधी है। दरअसल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने माल्या को भगोड़ा घोषित […]

Read More
employment law

Employment Law

January 5, 2019

Whether you are entering the job market for the first time or were recently terminated, it is important to understand your rights as a worker. Both federal and state governments have enacted a wide range of employment laws protecting employees from discriminatory treatment, unfair labor practices, unsafe work conditions, and more. This section provides in-depth […]

Read More
maggi_noodle poision

मैगी में लेड का स्तर खतरनाक: नेस्ले इंडिया पर ऐक्शन को SC की मंजूरी

January 5, 2019

वैश्विक फूड और बेवरेज कंपनी नेस्ले इंडिया (Nestle India) ने सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार किया कि उसके सबसे लोकप्रिय एफएमसीजी उत्पाद मैगी (Maggi) में लेड की मात्रा थी. कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान कंपनी के वकीलों ने इस बात को स्वीकार किया. कोर्ट में मामले की चल रही सुनवाई के दौरान कंपनी के वकीलों की […]

Read More
rafale deal

राफेल फैसले में “पेटेंट तथ्यात्मक और कानूनी त्रुटियां” हैं : यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की

January 5, 2019

वर्ष 2015 के राफेल सौदे की स्वतंत्र जांच की मांग करने वाली याचिकाओं के खारिज होने के बाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री, अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा के साथ-साथ जाने-माने वकील, प्रशांत भूषण ने एक बार फिर से उच्चतम न्यायालय का रुख किया है। उनके द्वारा 14 दिसंबर के उच्चतम न्यायालय के फैसले के पुनर्विचार की […]

Read More
surrogacy_laws

बॉम्बे हाईकोर्ट कोख किराए पर देने वाली महिला को उसके बच्चे के होने वाले माँ-बाप की अनुमति से 24 सप्ताह के गर्भ को नष्ट करने की अनुमति दी

January 5, 2019

बॉम्बे हाईकोर्ट ने हाल ही में कोख किराए पर देने वाली एक माँ को 24 सप्ताह के गर्भ को नष्ट करने की अनुमति दे दी। इस महिला ने जिस जोड़े को किराए पर यह कोख दिया था, उसने भी उसे ऐसा करने की अनुमति दे दी थी। इस गर्भ को नष्ट करने की ज़रूरत इसलिए […]

Read More
Gujarat-High-Court

रैगिंग एक बर्बर प्रथा, इसे जल्द से जल्द कानून बनाकर खत्म किया जाना चाहिए : गुजरात हाईकोर्ट

January 5, 2019

गुजरात उच्च न्यायालय ने रैगिंग को एक ‘बर्बर प्रथा’ करार देते हुए कहा है कि यदि किसी को भी रैगिंग का दोषी पाया जाता है तो उसे तुरंत संस्थान से निष्कासित कर दिया जाए और उसके बाद किसी अन्य शैक्षणिक संस्थान में प्रवेश करने से रोक दिया जाए। न्यायमूर्ति जेबी पारदीवाला ने इंस्टीट्यूट ऑफ इन्फ्रास्ट्रक्चर […]

Read More
bombay-high-court

बलात्कार की शिकार लड़की के शरीर पर अगर कोई चोट के निशान नहीं हैं तो इसका मतलब यह नहीं निकाला जा सकता कि पीड़िता की सहमति से सब कुछ हुआ : बॉम्बे हाईकोर्ट

January 5, 2019

बॉम्बे हाईकोर्ट ने 21 साल पुराने फ़ैसले को बदल दिया है और 41 साल के एक व्यक्ति को 1996 में एक लड़की से बलात्कार का दोषी माना है। न्यायमूर्ति इंद्रजीत महंती और वीके जाधव ने चोट के निशान और इसे सहमति बताने के बारे में कहा, “पीड़िता के शरीर पर किसी तरह का चोट का […]

Read More
judgement

बीते वर्ष 2018 के अहम फ़ैसले

January 5, 2019

अब जबकि साल 2018 ख़त्म हो चुका है हम इस बात पर ग़ौर करने जा रहे हैं कि बीता साल कैसे-कैसे क़ानूनी फ़ैसलों का साल रहा है। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा इस साल अपने पद से सेवानिवृत्त हुए जबकि न्यायमूर्ति रंजन गोगोई ने उनकी जगह ली। दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली […]

Read More