admin, Author at Indian Kanoon - Page 4 of 16

Author: admin

bombay-high-court

बलात्कार की शिकार लड़की के शरीर पर अगर कोई चोट के निशान नहीं हैं तो इसका मतलब यह नहीं निकाला जा सकता कि पीड़िता की सहमति से सब कुछ हुआ : बॉम्बे हाईकोर्ट

January 5, 2019

बॉम्बे हाईकोर्ट ने 21 साल पुराने फ़ैसले को बदल दिया है और 41 साल के एक व्यक्ति को 1996 में एक लड़की से बलात्कार का दोषी माना है। न्यायमूर्ति इंद्रजीत महंती और वीके जाधव ने चोट के निशान और इसे सहमति बताने के बारे में कहा, “पीड़िता के शरीर पर किसी तरह का चोट का […]

Read More
judgement

बीते वर्ष 2018 के अहम फ़ैसले

January 5, 2019

अब जबकि साल 2018 ख़त्म हो चुका है हम इस बात पर ग़ौर करने जा रहे हैं कि बीता साल कैसे-कैसे क़ानूनी फ़ैसलों का साल रहा है। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा इस साल अपने पद से सेवानिवृत्त हुए जबकि न्यायमूर्ति रंजन गोगोई ने उनकी जगह ली। दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली […]

Read More
Narendra-Modi

www.pmmodinews.com is a good website for MODI ji Related News

January 4, 2019

नमस्कार दोस्तों , आज हम आपको एक बहुत अच्छी वेबसाइट के बारे में बता रहे हे। इस वेबसाइट का नाम हे www.pmmodinews.com यह एक बहुत ज़बरदस्त वेबसाइट हे इस साइट पर आपको हर तरह की तजा तजा खबर मिलती रहती हे. उद्धारण के लिए :- हेल्थ से संभंधित खबरे :- देश और राज्य के की तजा खबरे, […]

Read More
Madras-HC

Madras HC Disposes Of Husband’s Habeas Corpus Petition By Dissolving Marriage Recording Mutual Consent

January 2, 2019

“4th respondent is not interested in going along with her husband and she is interested only in living with the 3rd respondent.” The Madras High Court recently dissolved marriage between a man and his wife while disposing of a habeas corpus petition filed by the former. The husband has filed the petition seeking a direction […]

Read More
Devendra Fadnavis

चुनावी हलफनामे में आपराधिक मामलों का खुलासा ना करने के आरोप पर सुप्रीम कोर्ट ने देवेंद्र फडणवीस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा

December 31, 2018

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक याचिका पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ नोटिस जारी कर 6 हफ्ते में जवाब मांगा है। याचिका में फडणवीस पर 2014 के विधानसभा चुनाव के लिए दाखिल हलफनामे में दो आपराधिक मामलों का खुलासा ना करने का आरोप लगाया गया है।  महाराष्ट्र के सतीश उके ने मुख्यमंत्री […]

Read More
Corporate law

MP/MLA को कोर्ट में वकालत करने से रोकने पर दाखिल पुनर्विचार याचिका भी सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की

December 31, 2018

सासंदों, विधायकों और विधान परिषद सदस्य को क़ानून की प्रैक्टिस करने से रोकने की याचिका को खारिज करने के अपने फैसले पर सुप्रीम कोर्ट दखल नहीं देगा। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई , जस्टिस एम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने पांच दिसंबर को जारी अपने आदेश में पुनर्विचार याचिका पर फैसला सुनाते हुए कहा है […]

Read More
499 defamation

मानहानि/DEFAMATION KYA HAI?

December 29, 2018

किसी व्यक्ति, व्यापार, उत्पाद, समूह, सरकार, धर्म या राष्ट्र के प्रतिष्ठा को हानि पहुँचाने वाला असत्य कथन मानहानि (Defamation) कहलाता है। अधिकांश न्यायप्रणालियों में मानहानि के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही के प्रावधान हैं ताकि लोग विभिन्न प्रकार की मानहानियाँ तथा आधारहीन आलोचना अच्ची तरह सोच विचार कर ही करें। मानहानि दो रूपों में हो सकती है- लिखित रूप में […]

Read More
bhrashtachar in politics

भ्रष्टाचार के कारण शासन आज एक मजाक बनकर रह गया है : गुजरात हाईकोर्ट

December 29, 2018

गुजरात उच्च न्यायालय ने हमारे समाज और जीवन पर भ्रष्टाचार के प्रभाव पर प्रहार करते हुए कहा है कि इसके चलते शासन एक ‘ मजाक’ बनकर रह गया है। न्यायमूर्ति जेबी पारदीवाला ने कहा, “यदि शासन आज मजाक का विषय बन गया है और इसे हंसी का पात्र बनाकर दयनीय स्थिति में छोड़ दिया गया है तो […]

Read More
Aadhar-card-Supreme-court-AV

आधार पर संविधान पीठ के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल

December 29, 2018

जस्टिस केएस पुट्टुस्वामी ( सेवानिवृत) बनाम भारत संघ व अन्य मामले में आधार की संवैधानिक वैधता को बरकरार रखने के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में  पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई है। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति एएम खानविलकर की सहमति से न्यायमूर्ति एके सीकरी ने आधार  (वित्तीय और अन्य सब्सिडी, लाभ […]

Read More
Justice-SR-Sen

न्यायमूर्ति एसआर सेन ने जताया क्षोभ, कहा – कोई भी अथॉरिटी अंतरजातीय और अंतरधार्मिक विवाह को नहीं रोक सकता है

December 29, 2018

अपने विवादास्पद बयान के लिए सूरखियों में आए मेघालय हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति सुदीप रंजन सेन ने हाल ही में एक शिक्षक को इसलिए हटाए जाने पर ग़ुस्से का इज़हार किया क्योंकि उसने अपने जाति से बाहर किसी अन्य जाति की महिला से शादी की थी। “पहले तो यह कि मैं इस पूरे मामले पर अपना […]

Read More