Criminal Procedure Code (CrPC) 1973

498 A

K.M.Sujith vs State Of Kerala on 21 October, 2009

December 28, 2018

IN THE HIGH COURT OF KERALA AT ERNAKULAM CRL.A.No. 1707 of 2005() 1. K.M.SUJITH, … Petitioner Vs 1. STATE OF KERALA. … Respondent For Petitioner :SRI.S.SACHITHANANDA PAI For Respondent :PUBLIC PROSECUTOR The Hon’ble MR. Justice K.BALAKRISHNAN NAIR The Hon’ble MR. Justice P.BHAVADASAN Dated :21/10/2009 O R D E R K. BALAKRISHNAN NAIR & P. BHAVADASAN, […]

Read More
criminal case

Section 498A in The Indian Penal Code

December 28, 2018

[498A. Husband or relative of husband of a woman subjecting her to cruelty.—Whoever, being the husband or the relative of the husband of a woman, subjects such woman to cruelty shall be pun­ished with imprisonment for a term which may extend to three years and shall also be liable to fine. Explanation.—For the purpose of […]

Read More
498 A

IPC 498 A पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला: दहेज प्रताड़ना मामले में गिरफ्तारी हो या नहीं, अब फिर पुलिस करेगी तय

December 28, 2018

498 A दहेज प्रताड़ना मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने बैलेंस बनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे मामलों में गिरफ्तारी हो या नहीं ये तय करने का अधिकार पुलिस को वापस दिया है. आपीसी की धारा 498 A दहेज प्रताड़ना मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे मामलों में गिरफ्तारी […]

Read More
ipc

IPC की धाराधारा 504 और 506 पर क्या सजा होती है?

December 22, 2018

IPC यानी INDIAN PENAL CODE में भारत में रहने वाले लोगों के द्वारा किए गए क्राइम को डिफाइन किया गया है और उनके लिए सजा या पनिशमेंट का PROVISION किया गया| IPC को 1860 में ब्रिटिश काल में लागू किया गया था| जम्मू कश्मीर और इंडियन मिलिट्री को छोड़ कर के पूरे भारत में लागू […]

Read More
ipc indian law aam aadmi k liye

आम आदमी के लिए आईपीसी की धारा 307, 308, 323, 324, 325, 326

December 22, 2018

1. आईपीसी सेक्शन 323 आम सी मारपीट जैसे किसी को चांटा मारना, ऐसे मामले की शिकायत थाने में की जा सकती है .लेकिन यह मामला ‘Cognizable offence’ की कैटेगरी में नहीं आता है . इसीलिए पुलिस सीधे FIR दर्ज नहीं करती है | फिर भी शिकायती को चाहिए कि वह पुलिस से शिकायत करें | इस […]

Read More
323

धारा 323 आईपीसी – इंडियन पीनल कोड – जानबूझ कर स्वेच्छा से किसी को चोट पहुँचाने के लिए दण्ड

December 22, 2018

जो भी व्यक्ति (धारा 334 में दिए गए मामलों के सिवा) जानबूझ कर किसी को स्वेच्छा से चोट पहुँचाता है, उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास जिसे एक वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या एक हजार रुपए तक का जुर्माना या दोनों के साथ दंडित किया जा सकता है। लागू अपराध जानबूझ कर […]

Read More
125 CrPC

Order For Maintenance Of Wives, Children And Parents

December 21, 2018

If any person having sufficient means neglects or refuses to maintain; his wife, unable to maintain herself, or his legitimate or illegitimate minor child, whether married or not, unable to maintain itself, or his legitimate or illegitimate child (not being a married daughter) who has attained majority, where such child is, by reason of any […]

Read More
125 CrPC

Who can seek Maintenance under Section 125 of the CrPC?

December 21, 2018

Legislated as a tool for social justice, Section 125 of the Criminal Procedure Code, 1973 provides an effective remedy for neglected persons to seek maintenance. A follower of any religion can apply for maintenance under Section 125 without restriction. Who Can Claim Maintenance?  Some of the laws applicable to the matters of maintenance to wives, parents, sons, daughters […]

Read More
CrPC125

Section 125 in The Code Of Criminal Procedure, 1973

December 21, 2018

125. Order for maintenance of wives, children and parents. (1) If any person having sufficient means neglects or refuses to maintain- (a) his wife, unable to maintain herself, or (b) his legitimate or illegitimate minor child, whether married or not, unable to maintain itself, or 1. Subs. by Act 45 of 1978, s. 12, for” Chief Judicial Magistrate” […]

Read More